khatushyamji prasadam

सूरजगढ़ का निशान - मंदिर के शिखर पर झुंझुनूं जिले के सूरजगढ़ का निशान साल भर लहराता रहता है. मंदिर पर सूरजगढ़ का निशान लहराने के पीछे एक किवदंती है.

इसके अनुसार काफी वर्ष पहले श्याम भक्तों में मंदिर पर अपना निशान चढाने की होड़ मच गई थी तब इस बात पर सहमति बनी कि जो श्याम भक्त मंदिर के बंद ताले को मोरछड़ी से खोलेगा, उसी का निशान शिखर पर चढ़ेगा.

सूरजगढ़ से निशान लेकर आए श्याम भक्त मंगलाराम ने मंदिर के ताले को मोरछड़ी से खोल दिया. उस समय से ही मंदिर के शिखर पर सूरजगढ़ का निशान चढ़ता आ रहा है. वर्तमान में मंगलाराम के परिवार व सूरजगढ़ के लोग इस परम्परा को निभा रहे हैं.

Our Other Websites:

Search in Rajasthan www.shrimadhopur.com
Buy Domain and Hosting www.domaininindia.com
Search in Khatushyamji www.khatushyamtemple.com
English Learning Tips www.englishlearningtips.com

Read Healthcare and Pharma Articles www.pharmacytree.com